टीबी से जंग में यूट्यूब को बनाया हथियार

सुरेशउपाध्याय॥नईदिल्लीटीबीकेखिलाफजंगमेंअबयूट्यूबकासहारालियाजारहाहै।वैज्ञानिकएवंऔद्योगिकअनुसंधानपरिषद(सीएसआईआर)नेइसबीमारीकेप्रतिलोगोंमेंजागरूकताफैलानेकेमकसदसेयहकदमउठायाहै।सीएसआईआरइससेपहलेटीबीकीनईदवाओंकीखोजकेलिएअंतरराष्ट्रीयस्तरपरओपनसोर्सड्रगडिस्कवरीनामकेएकप्रोग्रामकीशुरुआतभीकरचुकीहै।सीएसआईआरकाकहनाहैकिटीबीकेबढ़तेखतरेकोदेखतेहुएइसबीमारीकीनईदवाएंखोजनेकीखातिरयूट्यूबपरएककंपीटीशनकीशुरुआतकीगईहै।इसमेंभारतसरकारकीविज्ञानप्रसारनामकसंस्थाभीसहयोगकररहीहै।इसकेतहतलोगोंसेकहागयाहैकिवेटीबीकेमामलेमेंजागरूकताबढ़ानेऔरसाइंटिस्टबिरादरीकोइसकेलिएनईदवाएंखोजनेकोप्रेरितकरनेकेलिएशॉर्टविडियोबनाएंऔरइन्हेंयूट्यूबपरअपलोडकरें।इसपूरीकवायदकामकसदयहहैकिज्यादासेज्यादालोगइनविडियोकोदेखेंऔरटीबीकीखतरनाकहोतीस्थितिकोसमझें।मिलेगाइनामभी:सीएसआईआरनेकुछसबसेअच्छेविडियोकोअवॉर्डदेनेकाभीफैसलाकियाहै।इसमामलेमेंपहलापुरस्कार50हजारका,दूसरा25हजारकाऔरतीसरा15हजारकाहोगा।इसकेअलावा10-10हजारके20मेरिटप्राइजभीरखेगएहैं।यहकंपीटीशन26नंबरतकओपनरहेगा।पहलेभीकीकोशिश:परिषदनेकुछअरसापहलेटीबीकीनईदवाएंखोजनेकेलिएओपनसोर्सड्रगडिस्कवरीनामकप्रोग्रामशुरूकियाथा।इसप्रोग्रामसेदुनियाकीकईलैब्सजुड़ीहैं।इसप्रोजेक्टपरकामचलरहाहैमगरअभीतककोईठोसनतीजासामनेनहींआयाहै।सीएसआईआरकोउम्मीदहैकियूट्यूबपरशुरूकीगईनईपहलज्यादालोगोंकोटीबीकेखिलाफजारीजंगसेजोड़ेगी।टीबीकीमारहुईगंभीर:विश्वस्वास्थ्यसंगठनकेमुताबिक,भारतमेंहरसालकरीब23लाखलोगटीबीकीचपेटमेंआतेहैंऔरइनमेंसेकरीबतीनलाख20हजारलोगोंकीमौतइसबीमारीसेहोजातीहै।यानीहरतीनमिनटमेंदोलोगजानगंवादेतेहैं।हालकेसमयमेंदेशमेंटीबीकेकईऐसेमामलेभीसामनेआएहैं,जिनमेंबहुतसीदवाओंकाअसरनहींहोरहाहै।देशमेंटीबीकाइलाजआजभी1950और60केदशकमेंखोजीगईचारपरंपरागतदवाओंकीमददसेहीकियाजारहाहै।