आसमान में बादल देख सहम जाते हुए कलचुंडा के ग्रामीण

संवादसूत्र,गैरसैंण:गैरसैंणविकासखंडकेकलचुंडागांवकेलोगआसमानीआफतसेसहमेहैं।बादलघिरनेकेसाथहीजहांआधादर्जनपरिवारोंकीनींदउड़जातीहैवहींकुछपरिवारोंमेंअपनेमवेशियोंकीसुरक्षाकोलेकरबेचैनीबढ़जातीहै।

दरअसलहालहीमेंगांवकोमोटरसड़कसेजोड़ागया,जोगांवकेआधादर्जनआवासीयभवनोंकेसमीपसेहोकरगुजररहीहै।ग्रामीणोंनेसंबधितविभागपीएमजीएसवाईअधिकारियोंसेकईबारसड़ककिनारेसुरक्षादीवारकीमांगरखी,लेकिनअभीतकसुरक्षादीवारनहींबनाईगई।

ग्रामप्रधानहरेंद्रसिंहनेबतायाकिमाईथान-कलचुंडा-देवलधारनिर्माणाधीनमोटरमार्गपरबरसातकेकारणभू-धंसावहोनातयहै।इससेगांवकेगब्बरसिंह,हयातसिंह,जमनसिंह,कुलदीपनेगी,शंभूप्रसादउप्रेती,गोविंदसिंहवरामसिंहकेभवनोंकोखतराबनाहै।वहींहरिदत्त,खीमानंद,देवेश्वरीदेवीकीगोशालाओंकोनुकसानहोनेकीआशंकाहै।ग्रामीणरामसिंहबिष्टनेकहाकिअधिकारीवठेकेदारगैरजिम्मेदारतरीकेसेकार्यकररहेहैं।